*बच्चों के व्यक्तित्व निर्माण में शिक्षकों की होती है महत्वपूर्ण भूमिका – कलेक्टर डाॅ. सिंह*

0
79

कलेक्टर ने ली स्वामी आत्मानंद शासकीय इंग्लिश मीडियम स्कूल के शिक्षकों की बैठक

तिजराम साहू मुंगेली // कलेक्टर डाॅ. गौरव कुमार सिंह ने जिला कलेक्टोरेट स्थित मनियारी सभाकक्ष में आज स्वामी आत्मानंद शासकीय इंग्लिश मीडियम स्कूल के शिक्षकों की बैठक ली। उन्होंने कहा कि बच्चों के व्यक्तित्व निर्माण में शिक्षकों की महत्वपूर्ण भूमिका होती है। शिक्षकों को विद्यार्थी और स्कूल के प्रति समर्पित होकर कार्य करना चाहिए। ताकि उनका नाम परिवार, समाज में सुशोभित हो सके। उन्होंने कहा कि शिक्षक ही बालकों की योग्यता, क्षमता, रूचि, अभिरूचि आदि के अनुसार शिक्षा प्रदान करता है। उन्होंने कहा कि स्कूल हमारी पहचान है। शिक्षकों के कार्यों को विद्यार्थी नजदीक से देखता है और उन्हीं से सीखता है। अतः उन्होंने शिक्षकों को एक आदर्श मार्गदर्शक के रूप में कार्य करना चाहिए। उन्होंने कहा कि विद्यालय का अच्छा वातावरण बालक के लिए सीखने की अनुकूल स्थितियां उपलब्ध कराता है। उन्होंने कहा कि बालक की योग्यता और क्षमता कैसी भी हो, विद्यालय का वातावरण जैसा होगा, बालक के व्यक्तित्व का विकास भी उसी के अनुरूप होगा। इस अवसर पर उन्होंने अध्यापक, शिक्षक और गुरूजी की विस्तारपूर्वक व्याख्या की और अपने अनुभवों को साझा किया। तत्पश्चात उन्होंने शाला में उपलब्ध सुविधाओं आदि के बारे में जानकारी प्राप्त की और जिला शिक्षा अधिकारी श्री सतीष पाण्डेय को आवश्यक निर्देश दिए। बैठक में संयुक्त कलेक्टर श्रीमती नम्रता आनंद डोंगरे एवं प्राचार्य श्रीमती सृष्टि शर्मा भी उपस्थित थी।

 

Previous article*श्रीमती सृष्टि शर्मा होंगी स्वामी आत्मानंद उत्कृष्ट अंग्रेजी माध्यम स्कूल दाऊपारा मुंगेली की प्राचार्य*
Next article*कोविड-19 के कारण मृत व्यक्तियों के आश्रितों को अनुदान सहायता देने के संबंध में आवश्यक दिशा-निर्देश*

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here