*जिला आयुर्वेद विभाग में फर्जी अंकसूची के बूते नौकरी कर रहे 2 लोगों का काला कारनामा उजागर होने पर एक ने तो इस्तीफा दे दिया। मुंगेली निवासी संदीप सिंह ने की थी शिकायत ,जाँच जारी है।*

0
160

बिलासपुर – बिलासपुर जिले के जिला आयुर्वेद विभाग के अंतर्गत 2 कर्मचारियों की नियुक्ति की गई थी जिसमे एक प्रदीप कुमार माथुर पिता जमुना प्रसाद व प्रदीप कुमार पिता बलिस्टर प्रसाद थे, इन दोनों कर्मचारियों की नियुक्ति औषधालय सेवक के पद पर वर्ष 2013 में की गई थी, इन दोनों को प्रमाण पत्र फर्जी है ऐसा आरोप शिकायत कर्ता संदीप सिंह शिकायत पत्र के माध्यम से यह आरोप लगाया है, क्योकि इन दोनों ने जिस संस्था से पढ़ाई की थी वहां इनका उक्त रोल नंबर दर्ज ही नहीं है, यह शिकायत कर्ता को सूचना के अधिकार से जानकारी प्राप्त हुई थी शिकायत होने के बाद जब विभाग ने भी इस मामले में दोनों प्रमाण पत्र का जाँच कोरबा डीईओ से करवाया तो उक्त जाँच रिपोर्ट में भी उल्लेख है कि अंकसूची का रोल नंबर मिलान नही हो पाया है, इसी बीच इसमे से एक कर्मचारी प्रदीप कुमार पिता बलिस्टर प्रसाद ने इस्तीफा देने की खबर सामने आ रही है, लेकिन दोनों के खिलाफ आज दिनांक तक मामला दर्ज नही हो पाया है, जाँच के बिच में एक कर्मचारी का स्तीफा देकर भागना इनका फर्जी होना इससे सिद्ध होता है।

शासन को पहुच रही आर्थिक छति जांच प्रक्रिया की धीमी गति जारी –

बता दें कि इस पूरे मामले में लगभग बीते एक साल से भी ज्यादा समय से जाँच जारी है, व de गठित के प्रस्ताव जारी किए गए लगभग 6 महीने से भी ज्यादा समय बीत चुका है लेकिन इसमें आज दिनांक तक कोई भी वैधानिक कार्रवाई नही की गई हैं, जिससे कि शासन को लगातार आर्थिक छति पहुच रही हैं,

डॉ यशपाल ध्रुव (जिला आयुर्वेद अधिकारी)

1 कर्मचारी ने इस्तीफा विभाग को सौप दिया है जाँच जारी है।

Previous article*चिटफंड कंपनी सनशाइन इंफ्राबिल्ट प्राइवेट लिमिटेड का डायरेक्टर गिरफ्तार*
Next article*नर्स के साथ सेक्स करते युवक की मौत, पड़ा दिल का दौरा*

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here